साल 2008  में आईपीएल की शुरूआत हुई थी और तब से लेकर आज तक इसका बुखार क्रिकेट फैंस पर चढ़ता ही जा रहा है। आगे आने वाले समय में इसकी लोकप्रियता इस कदर बढ़ जाएगी कि फैंस शायद एक पल को इंटरनेशनल क्रिकेट भी भूल जाये। आईपीएल दुनिया का एकमात्र क्रिकेट टूर्नामेंट हैं जिसमें खेलने को लिए हर देश के खिलाड़ी अपनी दिलचस्पी दिखाते हैं और इस टूर्नामेंट का हिस्सा होना ही एक बहुत बड़ी बात होती है। साल 2008 से लेकर अभी तक इस प्लेटफॉर्म पर कई युवा क्रिकेटरों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए इंटरनेशनल क्रिकेट का रुख किया है।

आईपीएल के बारे में ही बात करते हुए भारत के पूर्व क्रिकेटर और एक्सपर्ट आकाश चोपड़ा ने कहा है कि आगे आने वाले समय में एक साल में दो आईपीएल होने की बड़ी संभावना है। आईपीएल की शुरुआत 8 टीमों के साथ हुई थी लेकिन अभी इसके हालिया सीजन में कुल 10 टीमों ने भाग लिया था जहां गुजरात टाइटंस की टीम ने राजस्थान रॉयल्स को हराकर फाइनल को अपने नाम किया।

अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए आकाश चोपड़ा ने कहा,

“जब आप इसके बारे में बात करते हो तो लगता है कि क्या सच में दो आईपीएल की जरूरत है। फर्क नहीं पड़ता की जरूरत है या नहीं? ऐसा होगा या नहीं? यह एक बड़ा सवाल है और मुझे लगता है कि ऐसा होगा।”

Gujarat Titans vs Rajasthan Royals, IPL 2022 Final: When And Where To Watch  Live Telecast, Live Streaming | Cricket News

आकाश चोपड़ा ने इस मुद्दे पर आगे अपनी राय देते हुए कहा कि ये इतनी जल्दी नहीं होगा। लेकिन आगे आने वाले 5 सालों में ऐसा जरूर होगा और ये 100% होगा। केकेआर के इस खिलाड़ी ने यहां तक ये भी कहा कि एक बड़ा आईपीएल होगा जहां सभी टीमें करीब 94 मैच खेलेगी और एक छोटा आईपीएल होगा जहां हो सकता है कि सभी टीमें एक दूसरे से केवल एक-एक मैच खेले।

भारत के इस पूर्व बल्लेबाज ने यहां तक ये भी कहा कि एक साल में दो बार आईपीएल होने से इंटरनेशनल क्रिकेट को हानि पहुंचेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.